Skip to main content

प्रबंधन प्रणाली प्रमाणन योजनाएं

प्रबंधन प्रणाली प्रमाणन योजनाएं

Management System Certification Schemes

मानकीकरण सूचना और संचार प्रौद्योगिकियों और अन्य विद्युत तकनीकी क्षेत्रों के लिए संबंधित क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा की चुनौतियों का सामना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. मानकीकरण की अनुपस्थिति कारोबार, एक उच्च प्रतिस्पर्धी विश्व में जहां अन्य दलों ने मानकीकरण प्रथाओं को लागू किया है में बहुत अधिक तो माल की अस्वीकृति का कारण बन सकता है अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा के संदर्भ में जोर केवल उत्पाद के मानकों और / या सेवा की आवश्यकताओं के अनुरूप ही नही बल्कि इसकी गुणवत्ता की प्रदर्शनीयता पर है| हाल के दिनों में अंतरराष्ट्रीय बाजार की शक्तियों की गुणवत्ता प्रणाली है, जो एक तीसरी पार्टी द्वारा प्रमाणित होना चाहिए प्रदर्शनीयता दिशा में एक प्रवृत्ति दिखाई है, यह इसलिए है कि उत्पाद और / या सेवा अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के पार कारोबार किया जा सके|

इस उद्देश्य से एसटीक्यूसी प्रमाणन सेवा ने भारत में नेतृत्व करते हुए भारतीय क्षेत्र में (क्यूएमएस)प्रमाणन सेवाएँ प्रदान करने के लिये 1991 में पहली तीसरे पक्ष प्रमाणन एजेंसी बनी| और मान्यता मानक की आवश्यकताओं को पूरा संचालित 17,021 आईएसओ है/ एसटीक्यूसी प्रमाणन नीति (19.8 KB) पीडीएफ फाइल जो नई विंडों में खुलती हैं पीडीएफ फाइल जो नई विंडों में खुलती हैं एसटीक्यूसी प्रमाणन सेवा निम्नलिखित क्षेत्रों में चार क्षेत्रीय प्रमाणन कार्यालय से की पेशकश कर रहे हैं. एसटीक्यूसी प्रमाणन योजनाओं पर जानकारी के लिए नीचे योजनाओं पर क्लिक करें कृपया

सेवाओं की पेशकश :

मान्यता और प्रत्यायन:

एसटीक्यूसी प्रमाणन सेवा द्वारा मान्यता प्राप्त है अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्रत्यायन (आरएवी) के लिए डच परिषद, इसके आईएसओ 9001 (क्यूएमएस)  मानकों के लिए नीदरलैंड. इसके अलावा 9001 (क्यूएमएस) प्रमाणन सेवा भी द्वारा मान्यता प्राप्त है एनएबीसीबी, भारत मान्यता प्राप्त प्रमाणीकरण योजनाओं के दायरे क्षेत्रों के लिए क्लिक करें यहाँ 

प्रत्यायन प्रमाण पत्र क्लिक करें झटका के लिए:

प्रत्यायन (आरएवी) के लिए डच परिषद,नीदरलैंडआरएवी 286

एनएबीसीबी, भारत एनएबीसीबी 034 दस्तावेज़ (739 KB) पीडीएफ फाइल जो नई विंडों में खुलती हैं